Scholiership alert for m.sc in mathematics student. Last date @28 july

IMG_20170724_101825.jpgMasters Scholarships

Attractive scholarships have been instituted for outstanding students with an aptitude for research, studying for the Masters Degree in Mathematics or Statistics. The selection for awarding these scholarships is done on the basis of written tests/interviews. Advertisements inviting application for these scholarships normally appear in July in leading newspapers. Copies of the advertisement are also sent to several university departments of mathematics in the country. The amount of the scholarship is Rs. 6000/- (Rs. Six Thousand only) per month.

 

 

NEW: 2017-18 NBHM MA/MSc Advertisement Click here

2016-17 NBHM MA/MSc List of Selected Candidates  click here

2016-17 NBHM MA/MSc  Question Paper  click here

2016-17 NBHM MA/MSc  Answer Key click here

2015-16 NBHM MSc scholarship result  click here

2015-16 NBHM MSc scholarship result click here

 

Archives

  • MA/M.Sc. Scholarship  written test held on 19.09.2015.  For question paper Please click here
  • MA/M.Sc. Scholarship 2015-16 Advertisement.  Please click here
  • Question paper of MA/ MSc. Scholarship test 2014. Please click Here
  • Key of MA/ MSc. Scholarship test 2014. Please click Here
  • Previous year’s question papers of MA / MSc Scholarship Exam : 2005, 2006, 2007, 2008, 2009, 2010, 2011, 2012.
  • Answers to sample question papers MSc Scholarship test 2012.

Jio 4G Phone Registration Date On Jio.com Flipkart &Amazon Jio Upcoming phone Can be booked from reliance offline stores &Through Amazon,flipkart &Snapdeal After its official Launch. I write down features and detals have a glimps.

Jio Upcoming phone Can be booked from reliance offline stores &Through Amazon,flipkart &Snapdeal After its official Launch.

JioPhone Trial Begins 15th August 2017
JioPhone Booking Date 24st August 2017
Delivery Starts Mid September

 

 

How To Book Reliance Jio 4G Phone 1500 rs. Smartphone Cum Mobile online @ Jio.com??

* Visit Reliance Jio 1500 Rs. Mobile Online Booking Page (Booking Starts 24th August)

* Download Flipkart App To Book Jio Phone Online (Links Will Be Updated After Official Launch)

* Visit Amazon Jio Feature Phone Online Booking Page (Links Will Be Updated After Official Launch)

* Fill out All Details

* Book Your 1500 Rs. 4g Feature Phone

Offer Description:

jio mobile,Jio 1500 Rs. Mobile Online Booking,Jio Feature Phone,www.jio.com

Reliance Has launched world”s cheapest 4G voLTE feature phone on 21st July 2017 in its Annual general meeting. The Price for the Jio feaure phone Is Rs. 1500 Which is Fully refundable So This Make Jio Phone Effectively Free. Jio feature phone Has been launched under Lyf brand name. Jio 1500 Rs. Mobile Can Be booked online from official My Jio App. Jio lyf Easy Smartphone is coming Up with Hotspot feature,With Unlimited calling &4G services. Booking For this Smartphone Will Start 15th August 2017.You Can Book JioPhone For rs. 1500 And Can Avail Refund After 3 Years by returning Phone To The Jio.

 

About Jio Phon 1500 Rs. (Effectively Free) 4g Feature Phone Cum Smartphone?

After revolution in indian telecom industry Jio is going to rock the smartphone market with its upcomingJio feature phone under its very owned Lyf brand. The upcoming jio Feature Phone will be the cheapest 4g smartphone in World. Jio Lyf easy mobile Online booking Starts on 24th August 2017 On My Jio App &Jio Offline Stores. Keeping price factor into mind demand for this phone will be very high. Jio Will Be producing 5 Million Phones Every Week. Jio”s upcoming feature phone is said to come with a 2.4-inch display,while the device will pack a dual-language keypad at the bottom.

Jio Free Phone Data And Calling plans:Online Booking For Rs. 1500:

1. 153 Rs. Plan:

* Get Unlimited calling &Data For 1 Month On JioPhone (500 mb Data FUP)

2. 54 Rs. Plan Details:

* You Will Get Unlimited Data &Calling For 1 Week (500 mb Data FUP)

3. 24 Rs. Daily Plan Details:

* You Will Get 2 Days Of Unlimited Calling &Data (500 mb FUP)

4. 309 Rs. Jio cable TV Plan

* Get Unlimited Access To Jio Cable Tv On Larger Screen For One Month

 

 

Watch JioPhone Live Launch For Rs. 1500 Only

 

Jio Free Phone-Rs. 1500 Mobile Specifications,Online booking @ http://www.jio.com

 

Jio 4g Phone Specifications

Wi-Fi Yes
Wi-Fi standards supported 802.11 b/g/n
GPS No
Bluetooth Yes,v 4.10
NFC Yes
Infrared No
USB OTG No
Headphones Yes
FM Yes
Number of SIMs 2
Screen size (inches) 2.40
Touchscreen No
Resolution 240×320 pixels
Expandable storage Yes
Expandable storage type microSD
Front camera No
SIM Type Micro-SIM
GSM/CDMA GSM
3G No
4G/ LTE Yes
Supports 4G in India (Band 40) Yes

 

width=

 

Jio 4G Phone Registration Date On Jio.com Flipkart &Amazon

 

Jio Upcoming phone Can be booked from reliance offline stores &Through Amazon,flipkart &Snapdeal After its official Launch.

JioPhone Trial Begins 15th August 2017
JioPhone Booking Date 24st August 2017
Delivery Starts Mid Septembe

 

Again loot. IndiaSpeaks – Complete Survey and Get Rs 50 Paytm Cash(hurry up)

How to Get Rs 50 Paytm Cash on Completing IndiaSpeaks Survey:-

1) First of all, Visit IndiaSpeaks survey Page Here

Please read Survey Tips carefully otherwise you will be disqualified within few minutes)

2) Note:- If you got Sign up page of IndiaSpeaks, That’s mean You are disqualified from survey!!

3) Paste that Link on browser and Enter your Paytm Cash details (Make sure Same details are used to sign up on Indiaspeaks.net… if you have already signed up then No need.).

4) Now Complete the Survey.

Note:- I don’t know How is Success screen message on Completing survey. You can give a try!

5) In Last Sign up for IndiaSpeaks (if you don’t have account on indiaspeaks), You will get the Rs 50 Paytm Cash within 7 days.

Survey Tips & Answers:-

1) Based on Media/Entertainment (Select Category).

2) Age 26,25,27

3) Streaming video based survey

4)enjoy!!

5)feel free to comment.

(20+ Suggestions) Kotak 811 App – Get 99% Instant Discount on Selected Products (All Users)

Kotak 811 App – Get 99% Instant Discount on Selected Products (All Users). Kotak is offering an awesome loot where you will get the 99% Instant Discount on Selected products. Maximum discount is Rs 200. Offer valid for All Users. Offer is valid from July 23, 2017 to September 30th, 2017. So Hurry up and avail this offer Now !!

How to Open Kotak 811 Bank Account Online:-:-

1) First of all, Visit here to Read How to Open Account Online

How to Get 99% Discount Flipkart:-

1) Valid only on Selected Products – Visit =Women’s Clothing | Kid’s Clothing | Men’s Clothing (Applied on Some Products)

1) Flip Flops at Rs 1

2) Roadster Men’s T-Shirt Starting at Rs 215+

3) Fidget Spinner at Rs 1

4) Stylar Flip Flops at Rs 1

5) Levitate Flip Flop at Rs 1

6) Chevron Groove Street Headphones at Rs 50

7) Vaishma Women’s Brief Multicolor Panty (Pack of 3) at Rs 39

8) BlueTooth Devices at Rs 35

9) Penny Women’s Panty at Rs 1

10) YK Clothing at Rs 1

11) Ether Solid Men’s Henley Grey T-Shirt |Kook n keech Men’s T-shirt | 1 more Here @ Rs 31

12) Men’s Socks (Pack of 3) at Rs 1

13) MeSleep Laptop Skins & Decals at Rs 1

14) USB Fan, LeD Light at Rs 1

15) iVoltaa Sync & Charge Cables

16) Decal Wall Stickers at Rs 9

17) FST Analog Watch – For Men at Rs 99

18) Addiction Strong Sydney Deodorant Spray Men at Rs 1

19) Selfie Stick @ Rs 1 (Applicable on some products, Check offer Tag)

20) Nivea Fresh Power Boost Deodorant Spray – For Men (150 ml) at Rs 1

We are adding more products soon, Also Let us know if you have any suggestion!

2) Choose the Product which you want to Buy. (Make sure Kotak 811 Offer is mentioned on Product Page)

3) Add the Product to your Cart.

4) Login/Sign up.

5) Enter Shipping details/address.

6) On Payment Page >> Select Debit/Credit card.

7) Enter Kotak 811 Virtual Debit card details.

8) You will get the 99% instant discount (Maximum Rs 200).

9) Pay the remaining amount.

10) Now wait for Order Delivery.

Terms & Conditions:-

1. Offer: Flat discount of 99% upto a maximum of Rs.200 on purchase of certain products from the platform flipkart.com/Flipkart Mobile App/Flipkart Lite Platform using a Kotak 811 Virtual Debit Card.

2. In the case of new customers of Kotak 811 Account, use promo code/Ref Code FLIP – while installing the Kotak App. Existing customers of Kotak 811 Account can use the Kotak 811 virtual debit card to make the payment to be eligible for the offer.

3. Offer applicability can be checked on product page before placing order.

4. Offer Period : July 23, 2017 (15:00 Hours) to September 30th, 2017 (23:59 Hours)

5. Maximum one transaction per user per card. The offer is only applicable on the first transaction made using the Kotak 811 Virtual Debit Card during the offer period.

IndiaSpeaks Loot – Get Rs 50 Paytm Cash on Completing a Survey(only for 🍻 lovers)

How to Get Rs 50 Paytm Cash on Completing IndiaSpeaks Survey:-

1) First of all, Visit IndiaSpeaks survey Page Here (Buy this Coupon at Free of cost)

(Please read Survey Tips carefully otherwise you will be disqualified within few minutes)

2) Note:- If you got Sign up page of IndiaSpeaks, That’s mean You are disqualified from survey!!

3) Paste that Link on browser and Enter your Paytm Cash details (Make sure Same details are used to sign up on Indiaspeaks.net… if you have already signed up then No need.).

4) Now Complete the Survey (it takes me 15-20 Minutes to complete this survey, However answers are very easy and Tick mark based).

5) In Last Sign up for IndiaSpeaks (if you don’t have account on indiaspeaks), You will get the Rs 50 Paytm Cash within 7 days.

Survey Tips & Answers:-

1) Gender – Male

2) Age – 26 or 25 or 27

3) Does your family own any agricultural land i.e. land currently under cultivation or plantation? – Yes

4) What is your education qualification? To what level have you studied? – Post Graduate (All times)

5) Currently, which city do you live in? –bangalore, search google for pincode

6) You & Your Work- Financal industry.

7) This Survey is Based on Beer Lovers !! so give answer accordingly.

20) Done !! You have Completed this Survey..

Terms & Conditions:-

1. Paytm cashback will be rewarded only to those who have completed the survey.

2. The cashback will be added after the validation process, which might can take 7-10 working days.

3. Participation in the Campaign open only for limited time.

4. Offer is valid for all users.

5. Applicable only one time per user during the offer period.

6. Mobile number needs to be verified to be eligible for cash back.

7. Offer valid at indiaspeaks.net.

(Register Now) Droom.in – Get Helmet at Rs 9 only on 25th July(hurry up limited registrations)

Droom.in – Get Helmet at Rs 9 only on 25th July (Register Now). Droom.in website is offering a “Flash Sale” where you will get the Helmet at just Rs 9 only. You need to register for this Flash Sale and after that Droom notify you via SMS & Email. So Hurry up and register for Flash Sale !! Use Droom App for Faster Ordering.

The Original price of Helmet is Rs 999 which is going to be sell at Rs 9 during Flash Sale which is available at 25th July 2017 at 11 am. So Ready for this Sale.

How to Get Helmet at Rs 9 only from Droom.in:-

1) First of all, Visit the Offer Page Here | Offer Source

2) Enter your Name, Mobile number, email and Submit it.

Update:- If its show Delivery not available in your PinCode, Then Enter your Correct address and Pincode of other city where Product is available like Delhi or NCR or any Urban city.
Note:- Site might be Very Busy, So Try on Droom App for Checkout

3) That’s it, The sale is on 25th July at 11 am.

4) They will remind you via SMS and Email before sale.

5) Hurry and register for sale before time runs.

6) Use Coupon:- GETHELMET

7) Also Sign up on droom for Fast Checkout.

Thankyou!

About Droom.in Website:-

Founded in April 2014 in Silicon Valley, Droom is India’s first & largest marketplace to buy and sell new and used automobiles and automobile services. Droom has taken a completely innovative and disruptive approach to build trust and pricing advantages for buyers.

The current experience of buying and selling an automobile is completely broken, antiquated and full of pitfalls. Droom offers a truly 21st century experience in buying and selling automobiles.

Tag- Droom.in – Get Helmet at Rs 9 only on 25th July (Register Now), Droom.in Helmet offer, Droom helmet offer Flash Sale on 11am on 25th July.

Last date @Technothlon exam registrations end up tomorrow(hurry up)

Technothlon is a competition exam which held by iit guwahati for juniors and as well as seniors of 9to 10th standered and 11th to 12th .for more info refer below details and apply fast because last date is tomorrow 15 july. exam will be cunducted at the Mnit exam center jaipur on 16th july. read the breif discription below.

Through a series of events involving mental aptitude, logic, and dexterity, we seek to provide school students ,a platform to build fundamental experience and knowledge, to exercise co-ordination skills, and to think out of the box.

What Are We?

Technothlon is an international school championship organized by the student fraternity of IIT Guwahati. Technothlon began in 2004 in a small room with an aim to “Inspire Young Minds”. Starting on our journey with a participation of 200 students confined to the city of Guwahati, over the past 14 years we have expanded our reach to over 400 cities all over India and various centers abroad. The championship is organized over 2 rounds:
1. Prelims: a written preliminary examination which takes place in numerous schools all over India in the month of July
2. Mains: an event based competition which is conducted at IIT Guwahati, among the top 100 students from each squad.

Structure

Students participate in teams of 2.
There are two squads:
Junior Squad – Students of classes 9th and 10th
Hauts Squad – Students of classes 11th and 12th

Team formation : The members can be from same class or different class. For example: a team consisting of one member from class IX and other from class X is perfectly acceptable for Junior squad. The basic requirements for team formation are they should consist exactly two members from the same squad and the same institution.

Levels

The championship is held in two stages:

Prelims

To be held on 16th July 2017

Prelims is in general an objective written exam. It involves no syllabus or general knowledge and relies solely on the student’s logical and analytical thinking abilities. The exam is generally of 2 and ½ hour length. The question paper will have various sections like maths, puzzles, code crunchers etc. Each section has its own marking scheme.
The two team members are given a common Question paper and answer sheet and they can discuss it amongst themselves and attempt the paper together.
These questions are designed in a way to properly check the intellect and problem solving abilities of the participants. This also involves development of proper teamwork amongst the participants thus leading to wholesome development of students.

Mains

To be held at IIT Guwahati duringTechniche 2017

Mains is an event based competition. It is conducted during “Techniche”, the Techno-Management Festival of IIT Guwahati, held during the first week of September. The selected teams of the same squad compete against each other in various events. Each team will have to face 3 events from which top 5 teams from each squad will be selected for the Final Showdown. The events, like prelims, do not require any prerequisite knowledge and students will be taught any extra knowledge they require. The events vary every year and in the past there have been events like Robotics, Aircrash Investigation, Water Rocket and many more!
In addition to these, students can attend the workshops and fun events to spend the night. Other than events, the students can witness the competitions of Techniche, attend the Lecture Series of famous personalities, watch Nite performances.

Modes of Registration

The interested students can register themselves for the examination online or offline.

Offline

Technothlon is conducted over various cities and centers with the help of city representatives. The city representatives are responsible to collect the registrations offline. Participating schools can collect the registration fees themselves and then prepare a demand draft to be handed over to the city representatives.

Online

You can register online too! Online registration portal is now active! Click here to register online.
For Registration from Jawahar Navodaya Vidyalaya or from Kendriya Vidyalaya Click here

Please note that you will be able to access Technopedia only after successful payment of registration fees.

The fees is Non-Refundable

Selection Process

The teams are selected on the basis of the total marks scored in Prelims. The Top 50 teams from each squad are called to IIT Guwahati for the Mains Round.

Rewards

Other than the top 100 participants which are selected for mains in each squad (& given Gold Certificates); the next 400 participants in both the squads are awarded with Silver Certificates from Techniche, IIT Guwahati. Also there are various other prizes to be won which will be disclosed later. Everyone participating in Technothlon 2017 will receive e-Certificate of participation.

KIC 8462852: क्या इस तारे पर एलीयन सभ्यता है?

KIC 8462852 का व्यवहार विचित्र क्यों है ? क्या यह धुल, ग्रहो के मलबे से है या एलियन सभ्यता के कारण ?KIC 8462852 का व्यवहार विचित्र क्यों है ? क्या यह धुल, ग्रहो के मलबे से है या एलियन सभ्यता के कारण ?रूकिये! रूकिये! उछलिये मत! इस शोधपत्र मे एलीयन शब्द का कोई उल्लेख नही है, ना ही वह पत्र अप्रत्यक्ष रूप से एलियन की ओर कोई संकेत दे रहा है। लेकिन खगोलशास्त्रीयों ने एक तारा खोजा है जो विचित्र है, उसका व्यवहार इतना अजीब है कि उसकी व्याख्या करना कठीन है। इस तारे मे कुछ तो अलग है। कुछ खगोलशास्त्रीयों ने जिन्होनें इस कार्य मे भाग लिया था वे सोच रहे है कि शायद उन्होने एलियन सभ्यता के संकेत पा लिये है और यह विचित्र व्यवहार किसी विकसित परग्रही सभ्यता की वजह से हो सकता है।लेकिन अभी इस पर इतना उत्तेजित होने की आवश्यकता नही है, यह केवल एक अवधारणा है, इसके सत्यापित होने की संभावना अभी कोसो दूर है लेकिन सोशल नेटवर्क तथा कुछ मीडिया संस्थानो ने इसे सनसनीखेज खबर बना दिया है। इस अभियान मे शामिल वैज्ञानिक अभी संशंकित है, वे सिर्फ़ इतना कह रहे है कि ऐसा हो सकता है ना कि ऐसा है।विज्ञान की दृष्टि से दोनो संभावनाये नये द्वार खोलेगी।ग्रहो की खोज की संक्रमण विधी ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/07/trans_ani.gif?w=300&h=188″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/07/trans_ani.gif?w=400″ class=”size-medium wp-image-3486″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/07/trans_ani.gif?w=300&h=188″ alt=”ग्रहो की खोज की संक्रमण विधी” width=”300″ height=”188″ style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>ग्रहो की खोज की संक्रमण विधीयह तारा KIC 8462852 है, जोकि नासा केकेप्लर अभियान के द्वारा निरीक्षित लाखों तारो मे से एक है। केप्लर अंतरिक्ष वेधशाला इन तारो के निरीक्षण करते समय उनके प्रकाश मे आने वाली कमी को महसूस कर लेती है। यदि किसी तारे के प्रकाश मे किंचित कमी आती है तो उसके अनेक कारण हो सकते है। इन कारणो मे सबसे प्रमुख है उस तारे के पास एक या एक से अधिक ग्रहो की उपस्थिति जिनका परिक्रमा पथ पृथ्वी तथा उस तारे के मध्य है। जब कोई ग्रह अपने मातृ तारे के सामने से गुजरता है तो वह ग्रह उस तारे के प्रकाश को हल्का कम कर देता है, प्रकाश मे आने वाली इस कमी को केप्लर वेधशाला पकड़ लेती है। किसी ग्रह दवारा अपने तारे के सामने से इस संक्रमण से मातॄ तारे के प्रकाश मे आने वाली कमी एक प्रतिशत से कम होती है।अब तक इस विधि से हजारो सौर बाह्य ग्रह खोजे जा चुके है। सामान्यतः ग्रहो का अपने मातृ तारे की परिक्रमा काल निश्चित होता है, जिससे इन तारो के प्रकाश मे आने वाली कमी भी एक निश्चित अंतराल के बाद दिखायी देती है, यह अंतराल कुछ दिन, सप्ताह, महीने या वर्ष भी हो सकता है। यह अंतराल उस ग्रह की कक्षा के आकार पर निर्भर करता है।KIC 8462852 तारा सूर्य से अधिक द्रव्यमान वाला, अधिक उष्ण तथा अधिक चमकिला है। वह पृथ्वी से लगभग 1,500 प्रकाशवर्ष दूर है, यह दूरी थोड़ी अधिक है और इस तारे को नग्न आंखो से देखना कठिन है। इस तारे से प्राप्त केप्लर अंतरिक्ष वेधशाला के आंकड़े विचित्र है। इस तारे के प्रकाश मे कमी आती देखी गयी है, लेकिन उसका अंतराल नियमित नही है। प्रकाश मे आने वाली कमी की मात्रा भी अधिक है, एक बार प्रकाश पंद्रह प्रतिशत कम हुआ था तो एक बार 22 प्रतिशत।“तारा प्रकाश मे कमी केप्लर आंकड़ो के अनुसार चमक मे 22 प्रतिशत तक की कमी है। x अक्ष पर दिन दिये गये है। नीचे वाले दो आलेखो मे उपर वाले आलेख के दो अंतरालो को ही दिखाया गया है। बाये वाला 800वे दिन को तथा दाये वाला 1500 वे दिन को दर्शा रहा है।” ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png?w=700?w=300″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png?w=700?w=590″ class=”size-full wp-image-3675″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png?w=700″ alt=”” srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png 590w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png?w=150 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips-crop-original-original.png?w=300 300w” sizes=”(max-width: 590px) 100vw, 590px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>“तारा प्रकाश मे कमीकेप्लर आंकड़ो के अनुसार चमक मे 22 प्रतिशत तक की कमी है। x अक्ष पर दिन दिये गये है। नीचे वाले दो आलेखो मे उपर वाले आलेख के दो अंतरालो को ही दिखाया गया है। बाये वाला 800वे दिन को तथा दाये वाला 1500 वे दिन को दर्शा रहा है।”इसका सीधा सीधा अर्थ है कि इस बार हमने कोई ग्रह नही खोजा है। बृहस्पति के आकार का ग्रह भी अपने मातृ तारे केवल एक प्रतिशत प्रकाश रोक सकता है। बृहस्पति से बड़े आकार का ग्रह संभव नही है। यदि उस ग्रह का द्रव्यमान अधिक हो तो भी आकार वही रहेगा केवल घनत्व बढ़ेगा। यह कमी किसी अन्य तारे से भी नही हो सकती क्योंकि ऐसे किसी तारे को हम अवश्य देख लेते। किसी ग्रह या तारे की वजह से प्रकाश मे कमी आती तो वह एक नियमित अंतराल मे होती, जबकि यह कमी नियमित अंतराल मे भी नही है। इस तारे के प्रकाश को जो भी रोक रहा है वह महाकाय है, इस तारे के लगभग आधे आकार का है!केप्लर के आंकड़ो के आने से इस तारे के प्रकाश मे कमी सैंकड़ो बार देखी गयी है। प्रकाश मे आने वाले कमी के अंतराल मे किसी भी तरह की नियमितता नही है, कमी एक अनिश्चित अंतराल पर, अनिश्चित मात्रा मे हो रही है। इस कमी का व्यवहार भी अजीब है। किसी ग्रह से अपने मातृ तारे के प्रकाश मे आने वाली कमी का आलेख मे एक सममिती(Symmetry) होती है; प्रकाश पहले हल्का धीमा होता है , थोड़े अंतराल के लिये उसी मात्रा मे धीमा रहता है और वापस अपनी पुर्वावस्था मे आ जाता है। [उपर संक्रमण विधि का चित्र देखे।] KIC 8462852 तारे के प्रकाश के निरीक्षण के 800 वे दिन के आंकड़ो मे ऐसा नही देखा गया है, प्रकाश धीरे धीरे कम होता है और अचानक तीव्रता से बढ़ता है।1500 वे दिन प्रकाश मे आने वाली मुख्य कमी के आलेख मे अनेक छोटी छोटी कमी की एक श्रृंखला है। इसके अलावा इस तारे के प्रकाश मे हर 20 दिन के पश्चात कुछ सप्ताह के लिए प्रकाश मे कमी होती है, कुछ समय बाद ये कमी गायब हो जाती है। कुल मिलाकर इस प्रकाश मे आने वाली कमी मे कोई निरंतरता नही है। यह अनियमित संक्रमणो के जैसा है और विचित्र है।कुछ और कमी केप्लर के अतिरिक्त आंकड़ो के अनुसार हर 20 वे दिन भी कमी आती है। सौर कलंक के अनुसार इस तरह की कमी हर दिन होना चाहिये, जिसमे तारे के घूर्णन के अनुसार सौर कलंक तारे के सामने से होता हुआ गुजरता है। ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png?w=700?w=300″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png?w=700?w=590″ class=”size-full wp-image-3676″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png?w=700″ alt=”कुछ और कमी केप्लर के अतिरिक्त आंकड़ो के अनुसार हर 20 वे दिन भी कमी आती है। सौर कलंक के अनुसार इस तरह की कमी हर दिन होना चाहिये, जिसमे तारे के घूर्णन के अनुसार सौर कलंक तारे के सामने से होता हुआ गुजरता है।” srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png 590w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png?w=150 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/star_alien_dips2-crop-original-original.png?w=300 300w” sizes=”(max-width: 590px) 100vw, 590px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>कुछ और कमीकेप्लर के अतिरिक्त आंकड़ो के अनुसार हर 20 वे दिन भी कमी आती है। सौर कलंक के अनुसार इस तरह की कमी हर दिन होना चाहिये, जिसमे तारे के घूर्णन के अनुसार सौर कलंक तारे के सामने से होता हुआ गुजरता है।इस शोधपत्र के लेखको ने इस व्यवहार के सामान्य कारणों/त्रुटियों के निर्मुलन का पूरा प्रयास किया है। यह विचित्र व्यवहार दूरबीन या आंकड़ो के विश्लेषण मे किसी त्रुटि की वजह से नही है। यह व्यवहार ताराकलंक(सौर कलंक जैसे लेकिन अन्य तारे पर) की वजह से भी नही है। पहले लगा था कि यह विचित्र व्यवहार ग्रहों की टक्कर की वजह से उत्पन्न मलबे और धुल के बादलो से हो सकता है, इस कारण से प्रकाश मे आने वाली इस तरह की कमी देखी जा सकती है। [पृथ्वी के चंद्रमा की उत्पत्ति भी ऐसी ही एक ग्रहों की टक्कर से हुयी थी।]ग्रहो की टक्कर से धुल और मलबे का निर्माण ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg?w=300&h=240″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg?w=590″ class=”size-medium wp-image-3673″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg?w=300&h=240″ alt=”ग्रहो की टक्कर से धुल और मलबे का निर्माण” width=”300″ height=”240″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg?w=300&h=240 300w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg?w=150&h=120 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/planetary_impact-crop-original-original.jpg 590w” sizes=”(max-width: 300px) 100vw, 300px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>ग्रहो की टक्कर से धूल और मलबे का निर्माणलेकिन इस अवधारणा मे भी यह समस्या है कि यह मलबा और धूल के बादल अवरक्त प्रकाश(infrared light) के रूप मे दिखायी देना चाहिये। इस तरह के ग्रहीय टकराव मे उत्पन्न धुल तारे की ऊर्जा से गर्म होती है और अवरक्त किरणो मे चमकती है। हम जानते है कि KIC 8462852 के जैसे तारे कितना अवरक्त प्रकाश उत्सर्जित करते है, KIC 8462852 के प्रकाश मे अवरक्त प्रकाश कि अतिरिक्त मात्रा नही है अर्थात ऐसा कोई मलबा नही है।खगोलशास्त्रीयों द्वारा अंतिम पर्याय था धूमकेतुओं की एक श्रृंखला द्वारा तारे की परिक्रमा। ये धूमकेतु गैस और धुल के बादलो से घीरे हो सकते है और प्रकाश मे कमी उत्पन्न कर सकते है। लेकिन इन धूमकेतुओं द्वारा भी अवरक्त प्रकाश उत्पन्न होना चाहीये, जो कि नही है। यदि कोई दूसरा तारा KIC 8462852 के पास से गुजरे तो वह KIC 8462852 के ऊर्ट(oort) बादल से अपने गुरुत्वाकर्षण की वजह से धूमकेतुओं को KIC 8462852 की ओर भेज सकता है, जिससे प्रकाश मे इस तरह की अनियमित कमी देखी जा सकती है। ऐसा माना जाता है कि हर तारे के आसपास अरबो किमी दूरी पर एक बर्फ के पिंडों का एक विशालकाय बादल होता है जिसे ऊर्ट बादल कहते है।संयोग से KIC 8462852 के पास 130 अरब किमी दूरी पर एक छोटा लाल वामन (Red Dwarf)तारा है। यह तारा ऊर्ट बादल को प्रभावित करने मे सक्षम है। लेकिन कहानी समाप्त नही होती है, धूमकेतु या धूमकेतुओं की श्रृंखला भी किसी तारे के प्रकाश मे 22 प्रतिशत की कमी नही ला सकता। ये कमी की मात्रा अधिक नही अत्याधिक है।तो अब कौनसा विकल्प बचा ?डायसन गोला (महाकाय सौर पैनलो का एक विशाल जाल) ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png?w=225&h=300″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png?w=435″ class=”size-medium wp-image-3668″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png?w=225&h=300″ alt=”डायसन गोला (महाकाय सौर पैनलो का एक विशाल जाल)” width=”225″ height=”300″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png?w=225&h=300 225w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png?w=113&h=150 113w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/dyson-swarm-wiki.png 435w” sizes=”(max-width: 225px) 100vw, 225px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>डायसन गोला (महाकाय सौर पैनलो का एक विशाल जाल)इस शोधपत्र की मुख्य लेखिका टबेथा बोयाजिअन(Tabetha Boyajian) ने इन आंकड़ो को सौर बाह्य ग्रहो की खोज करने वालेखगोलशास्त्री जेसान राईट(Jason Wright)को दिखाया। संयोग से जेसान राइट ने केप्लर आंकड़ो मे विकसित परग्रही सभ्यताओं के निशान खोजने पर भी कार्य किया है।यदि हम हमारी अपनी सभ्यता को देखें तो तो हमारी ऊर्जा की खपत लगातार बढ़ते जा रही है। हम ऊर्जा के विशाल और विशाल स्रोतो की खोज मे लगे हुये है, जीवाश्म, नाभिकिय, सौर, वायु इत्यादि। कुछ दशक पहले भौतिक विज्ञानी फ़्रीमन डायसन(Freeman Dyson) ने ऊर्जा की आपूर्ति के लिये एक नवीन अवधारणा प्रस्तुत की थी। इसके अनुसार यदि हम सूर्य के चारो ओर कक्षा मे कई किलोमिटर बड़े महाकाय सौर पैनल बनाकर डाल दे तो वे सौर प्रकाश को ऊर्जा मे परिवर्तित कर पृथ्वी पर बीम(beam) कर सकते है। अधिक ऊर्जा चाहिये, अधिक सौर पैनल बना कर कक्षा मे डाल दिजिये। एक अत्यधिक विकसित सभ्यता करोड़ो, अरबो सौर पैनल बनाकर तारे की कक्षा मे डाल सकती है।इस अवधारणा को डायसन गोला(Dyson Sphere) नाम दिया गया था, एक महाकाय गोला जोकि किसी तारे को पूरी तरह से ढंक ले। यह अवधारणा 1970 तथा 80 के दशक मे चर्चा मे रही थी, विज्ञान फतांशी धारावाहिक स्टार ट्रेक का एक एपिसोड़ भी इस पर आधारित था। डायसन ने कभी एक पूरे गोले को बनाने की बात नही की थी, उनके अनुसार और ढेर सारे सौर पैनल बनाने की बात थी जो तारे को ढंके एक महाकाय गोले जैसे लगे।यह अवधारणा विकसीत परग्रही सभ्यता की जांच मे अवश्य सहायक हो सकती है। ऐसा डायसन गोला दृश्य प्रकाश मे काला रहेगा लेकिन अवरक्त प्रकाश मे चमकेगा। लोगो ने ऐसे गोले को खोजने का प्रयास किया लेकिन सफ़ल नही रहे।अब हम KIC 8462852 पर लौटते है। क्या हमने विकसीत परग्रही सभ्यता के संकेत पकड़े है? क्या उन्होने अपने मातृ तारे के आस पास डायसन गोला बना कर रखा है? अरबो की संख्या मे सैकड़ो की संख्या मे महाकाय सौर पैनलो को अपने तारे के आसपास स्थापित करने से इस तारे के प्रकाश मे आने वाली इस तरह की विचित्र कमी संभव है।अब आप मे से कुछ लोग इस आइडीये का समर्थन करेंगे, कुछ विरोध भी करेंगे। लेकिन वैज्ञानिक अभी भी संशय मे हैं।एन्सेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञ ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=590″ class=”size-medium wp-image-3669″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197″ alt=”एन्सेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञ” width=”300″ height=”197″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197 300w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=150&h=99 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg 590w” sizes=”(max-width: 300px) 100vw, 300px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>एन्सेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञये आश्चर्यजनक खोज है, लेकिन मुझे उत्साहजनक लग रही है। जेशान राईट एक प्रोफ़ेशनल खगोलशास्त्री है, वे एन्शेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञ की तरह हवाई बाते करने वाले नही है। उनके अनुसार इस दिशा मे संभलकर संशयात्मक दृष्टि रखते हुये कार्य की आवश्यकता है।किसी अत्याधिक विकसित सभ्यता द्वारा ऐसे विशाल डायसन गोले के निर्माण की संभावना कम है लेकिन असंभव नही है। इसकी पुष्टि के लिये प्रयास तो किया जा सकता है। यदि हम इस तारे के आसपास किसी परग्रही सभ्यता को ना भी खोज सके तो भी हमारे प्रयास व्यर्थ नही होंगे क्योंकि हमे ब्रह्माण्ड के एक नये रहस्य का पता चलेगा कि इस तारे का ऐसा विचित्र व्यवहार क्यों है। दोनो संभावनाओं मे हमारे पाने के लिये है खोने के लिये कुछ नही है।KIC8462852 ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg?w=300&h=183″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg?w=580″ class=”size-medium wp-image-3672″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg?w=300&h=183″ alt=”KIC8462852″ width=”300″ height=”183″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg?w=300&h=183 300w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg?w=150&h=92 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/kic8462852_15oct2015-north-up-gianluca-masi.jpg” style=”max-width:100%;” />

KIC 8462852 : एलीयन सभ्यता ? एक बार फ़िर से चर्चा मे

KIC-8462852 के आसपास संभावित डायसन स्फियरKIC-8462852 के आसपास संभावित डायसन स्फियरहमारे ब्रह्मांड मे ढेर सारी अबूझ पहेलीयाँ है, लेकिन पिछले कुछ समय से विश्व के खगोलशास्त्री एक अजीब सी उलझन में फंसे हुए हैं। इसकी वजह है एक अनोखा तारा। यह तारा काफी रहस्यमय है। इससे जुड़ी बातें इसे किसी भी अन्य ज्ञात तारे से अलग बनाती हैं।यह तारा 2015 के अंतिम महिनो मे तथा 2016 के आरंभिक महिनो मे चर्चा मे आया था। यह तारा दो वर्ष पश्चात मई 2017 मे फ़िर से वैज्ञानिको की चर्चाओं का केंद्र बना हुआ है, वर्तमान के नये निरीक्षणो ने इस तारे की विचित्रता को फ़िर से उभारा है। इस तारे के प्रकाश मे वैसी ही कमी देखी जा रही है जो दो वर्ष पहले देखी गई थी। लेकिन इस बार यह कमी हम सीधे देख रहे है जबकि इसके पहले के निरीक्षणो मे हमने आंकड़े पिछले निरीक्षणो से पाये थे। समस्त विश्व के खगोल वैज्ञानिक दूरबीन से प्राप्त निरीक्षणो को लेकर ट्विटर पर सक्रिय हो चूके है।

ALERT:@tsboyajian’s star is dippingThis is not a drill.Astro tweeps on telescopes in the next 48 hours: spectra please!— Jason Wright (@Astro_Wright) May 19, 2017

यह तारा KIC 8462852 है, जोकि नासा के केप्लर अभियान के द्वारा निरीक्षित लाखों तारो मे से एक है। यह नाम टेबेथा बोयाजिअन(Tabetha Boyajian) के नाम पर है जो कि इस तारे की विचित्रता को पता लगाने वाली वैज्ञानिको की टीम की प्रमुख है। इस तारे को अब टैबी के तारे(Tabby’s Star) के नाम से भी जाना जाता है। KIC 8462852 तारा सूर्य से अधिक द्रव्यमान वाला, अधिक उष्ण तथा अधिक चमकिला है। वह पृथ्वी से लगभग 1,500 प्रकाशवर्ष दूर है, यह दूरी थोड़ी अधिक है और इस तारे को नग्न आंखो से देखना कठिन है। इस तारे से प्राप्त केप्लर अंतरिक्ष वेधशाला के आंकड़े विचित्र है। इस तारे के प्रकाश मे कमी आती देखी गयी है, लेकिन उसका अंतराल नियमित नही है। प्रकाश मे आने वाली कमी की मात्रा भी अधिक है, एक बार प्रकाश पंद्रह प्रतिशत कम हुआ था तो एक बार 22 प्रतिशत।केप्लर के आंकड़ो के आने से इस तारे के प्रकाश मे कमी सैंकड़ो बार देखी गयी है। प्रकाश मे आने वाले कमी के अंतराल मे किसी भी तरह की नियमितता नही है, कमी एक अनिश्चित अंतराल पर, अनिश्चित मात्रा मे हो रही है। इस कमी का व्यवहार भी अजीब है। किसी ग्रह से अपने मातृ तारे के प्रकाश मे आने वाली कमी का आलेख मे एक सममिती(Symmetry) होती है; प्रकाश पहले हल्का धीमा होता है , थोड़े अंतराल के लिये उसी मात्रा मे धीमा रहता है और वापस अपनी पुर्वावस्था मे आ जाता है। KIC 8462852 तारे के प्रकाश के निरीक्षण के 800 वे दिन के आंकड़ो मे ऐसा नही देखा गया है, प्रकाश धीरे धीरे कम होता है और अचानक तीव्रता से बढ़ता है।1500 वे दिन प्रकाश मे आने वाली मुख्य कमी के आलेख मे अनेक छोटी छोटी कमी की एक श्रृंखला है। इसके अलावा इस तारे के प्रकाश मे हर 20 दिन के पश्चात कुछ सप्ताह के लिए प्रकाश मे कमी होती है, कुछ समय बाद ये कमी गायब हो जाती है। कुल मिलाकर इस प्रकाश मे आने वाली कमी मे कोई निरंतरता नही है। यह अनियमित संक्रमणो के जैसा है और विचित्र है।2015 मे प्राप्त आंकड़े इतने विचित्र थे कि कुछ वैज्ञानिको ने इस तारे के आसपास एक विशालकाय कृत्रिम रूप से निर्मित एलियन मेगास्ट्रक्चर की कल्पना कि थी जोकि तारे के चारो ओर बना सौरपैनलो का एक महाकाय गोला “डायसन स्फ़ियर” हो सकता है। ऐसा गोला इस तारे के प्रकाश को रोक सकता है।पेन विश्वविद्यालय के खगोल वैज्ञानिक जैसन राईट कहते हैएलियन सभ्यता इस तरह के निरीक्षणो मे सबसे अंतिम अवधारणा होना चाहिये लेकिन इस तारे की गतिविधियों से ऐसा ही लगता है कि इस तारे के आसपास कुछ ऐसा है जो एलियन सभ्यता द्वारा निर्मित है।कुछ अन्य वैज्ञानिको ने धूमकेतुओं के झुंडो की अवधारणा आगे बढ़ाई, कुछ वैज्ञानिको ने किसी विशाल ग्रह के मलबे द्वारा प्रकाश अवरोधित करने का विचार प्रस्तुत किया है। कुछ वैज्ञानिको ने KIC 8462852 तारे के आकार को अत्याधिक विकृत होने की अवधारणा को प्रस्तुत किया जिसमे यह तारा अपने विषुवत पर अत्याधिक फ़ुला हुआ है। लेकिन इन सभी अवधारणाओं को अन्य वैज्ञानिको ने खारीज कर दिया है।किसी भी अवधारणा की पुष्टी के लिये सबसे बड़ी समस्या आंकड़ो की कमी है, हमारे पास इतने आंकड़े नही है कि हम किसी अवधारणा को स्वीकार या अस्वीकार कर सके।बोयाजिअन ने कहा है किहम एक ऐसी स्थिति मे है कि हम कुछ नही कर सकते है। हमारे पास सभी उपलब्ध आंकड़े है लेकिन उनसे कुछ निष्कर्ष निकालने हमे और आंकड़े चाहिये। हमे इस घटना को प्रत्यक्ष देख कर आंकड़े जमा करने होंगे।और बोयाजिअन की मांग के अनुसार KIC 8462852 ने उन्हे ऐसा मौका दे दिया है। इस तारे मे प्रकाश मे विचित्र कमी फ़िर से आ रही है। अब हमारे पास इस घटना के ताजा आंकड़े मिलेंगे, जिससे वैज्ञानिक उनके विश्लेषण से किसी निष्कर्ष पर पहुंच सकते है।

#TabbysStar IS DIPPING! OBSERVE!!@NASAKepler@LCO_Global@keckobservatory@AAVSO @nexssinfo@NASA @NASAHubble@Astro_Wright@BerkeleySETI— Tabetha Boyajian (@tsboyajian) May 19, 2017

खगोल वैज्ञानिक जैसन राईट के अनुसार शुक्रवार 19 मई 2017 को इस तारे के प्रकाश मे कमी देखी गई और कुछ दिन मे यह कमी तीन प्रतिशत हो गई। वैज्ञानिको ने अन्य वैज्ञानिको को सचेत करते हुये दूरबीनो को इस तारे की ओर घूमाकर उसके प्रकाशवर्णक्रम के अध्ययन के लिये कहा है।नीचे चित्र मे इस तारे के प्रकाश मे आई ताजा कमी दिखाई गई है।KIC 8462852 के प्रकाश मे निरीक्षित कमी ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=300″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=700&h=473″ class=”size-large wp-image-5651″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=700&h=473″ alt=”KIC 8462852 के प्रकाश मे निरीक्षित कमी” width=”700″ height=”473″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=700&h=473 700w, https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=150&h=101 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=300&h=203 300w, https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=768&h=519 768w, https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg?w=1024&h=692 1024w, https://vigyan.files.wordpress.com/2017/05/kic-8462852-bright-dips.jpg 1036w” sizes=”(max-width: 700px) 100vw, 700px” style=”height: auto; max-width: 98%; border: 1px solid rgb(204, 204, 204); padding: 5px; margin: 2.70312px auto 0px; display: block;”>KIC 8462852 के प्रकाश मे निरीक्षित कमीजैसन राईट से इस सप्ताह की पत्रकार वार्ता मे पूछे जाने पर उन्होने कहा कि अभी इस तारे KIC 8462852 के रहस्य से पर्दा उठने मे देर है।लेकिन अब समस्त विश्व के खगोल वैज्ञानिक लग गये है और हमारे पास ढेर सारे ताजा निरीक्षण के आंकड़े है। रहस्य पर से पर्दा उठने की संभावनाये पहले से बेहतर है कि इस तारे के प्रकाश ये विचित्र कमी क्यों आती है?एलियन सभ्यता मे विश्वास रखने वालो के लिये अच्छी खबर यह है कि वैज्ञानिकों ने डायसन स्फियर जैसी संभावना को खारिज नही किया है, भले ही वह इसे अंतिम विकल्प के रूप मे लेकर चल रहे है। आने वाले कुछ महिने KIC 8462852 के लिये रोमांचक होंगे।एन्सेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञ ” data-medium-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197″ data-large-file=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=590″ class=”size-medium wp-image-3669″ src=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197″ alt=”एन्सेंट एलीयन वाले नमूने विशेषज्ञ” width=”300″ height=”197″ srcset=”https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=300&h=197 300w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg?w=150&h=99 150w, https://vigyan.files.wordpress.com/2015/10/itsaliens-crop-original-original.jpg” style=”max-width:100%;” />